कोशिश होनी चाहिए, किसी को याद करने की लम्हा तो अपने आप मिल जाएगा #shayari

1.रब ने जो रिश्ता आसमान पर लिखा है
उसे दुनिया मे निभाना है एक नाम तुम्हारा लिखना है
एक नाम हमे बन जाना है

2.जब तुझे पहली बार देखा था,
वो भी था मौसम ए तरब कोई,
याद आती है दूर की बातें,
प्यार से देखता है जब कोई,

3.हसरत है सिर्फ़ तुम्हे पाने की,
और कोई ख्वाईश नही इस दीवाने की,
शिकवा मुझे तुमसे नही खुदा से है,
क्या ज़रूरत थी तुम्हे इतना खूबसरत बनाने की

4.देख ली मैने भी खुदाई तुझे पाकर
तेरे संग ज़िंदगी का हर लम्हा अच्छा है

5.बातों बातों में उलझाना कोई आपसे सीखे
दिल को ऐसे बहलाना कोई आपसे सीखे
कैसे तड़पते हैं चाहने वाले को अपने
आधाओं से सितम करना कोई आपसे सीखे

6.तुम्हे मैं जब भी देखता हूँ , मेरी निगाहे खामोश हो जाती हैं,
लेकिन तेरी पलको के साए मैं आकर , तेरी इन्ही प्यारी झुलफो को देखति है

7.हाल दिल का तुम्हे सुनते अगर तुम पास होते,
अश्क तुम्हारे साथ बहते अगर तुम पास होते,
चाँदी रात की उन हसीन मुलाक़ातो को,
फिर से एक बार दोहराते अगर तुम पास होते .

8.काश आपकी सूरत इतनी प्यारी ना होती,
काश आपसे मुलाकात हमारी ना होती,
सपनो में ही देख लेते हम आपको,
तो आज मिलनी की इतनी बेकरारी ना होती

9.कोशिश होनी चाहिए, किसी को याद करने की लम्हा तो अपने आप मिल जाएगा ,
वक़्त होना चाहिए, किसी से मिलने का बहाना तो अपने आप मिल जाएगा .