जगन (जुगनी से) : ये क्या तुम एक और सूट ले आयी? परसों ही तो…

1.
जगन : मैंने पिछले 30 सालों में एक बात नोट की है।
मगन : वह क्या?
जगन : साला जब भी फाटक बंद होता है तब ट्रेन जरूर आती है।

2.
जगन (जुगनी से) : ये क्या तुम एक और सूट ले आयी? परसों ही तो…
जुगनी (चिल्लाकर) : क्या परसों? बोलो.. बोलो.. क्या कहा तुमने? रुक क्यों गये? क्या परसों, बोलो जल्दी-जल्दी बोलो ना, बताओ क्या परसो?
जगन : कुछ नही, मैं बस कह रहा था कि.. परसों भी एक ही सूट लायी थी पगली, आज तो दो ले आती।

इसे कहते है बीबी का खौफ …..

3.
पापा : बेटा, गिनती सीख गए हो?
बंटी : हाँ पापा !
पापा : तो बताओ 1, 2, 3, 4 के बाद क्या आता है ?
बंटी : 5, 6
पापा : शाबाश! और 5, 6 के बाद?
बंटी : 7, 8, 9, 10
पापा : “शाबाश! बहुत होशियार हो गया है तू तो ,और बताओ बेटा 10 के बाद क्या आता है” ?
बंटी : गुलाम.. बेगम.. बादशाह…

पापा शॉक बंटी रॉक ….

4.
सरदार का कोई संतान नहीं थी।
उसने खूब मन्नतें मांगी,
नंगे पैर तीर्थ पे गया,
जमीन पे सोया,
सभी देवी देवताओं के दर्शन किए,
दिनों दिनों तक उपवास किया, और
अंत में कठिन निर्जल व्रत आरम्भ कर दिया।
तब शिव जी खुद प्रकट हुए
और हाथ जोड़ कर बड़े दीन भाव से बोले…
“पहले शादी तो कर मेरे बाप”…

5.
बचपन के दोस्त पोलू – भोलू बहुत सालों बाद मिले।
भोलू : कितने बच्चे हैं?
पोलू : मेरे 4 लड़के हैं।
भोलू : क्या करते हैं?
पोलू : पहला B.E, दूसरा B.TECH, तीसरा M.TECH. और चौथा चोर है
भोलू : तो फिर चोर को घर से निकालते क्यों नही?
पोलू : वही तो कमाता है, बाकी सब तो ‘बेरोजगार’ हैं