नेता की बीवी (नेताजी से) : मेरी चप्पल बिलकुल खराब हो गई है। आज शाम को मेरे लिए एक जोड़ी चप्पल जरुर लेते आना।

1.
लडकियों कि सामान्तया दो समस्याएं होती है।

पहला : कैसे कुत्ते की तरह देख रहा है !

दूशरा : कुत्ता देख भी नहीं रहा है !

अब कुत्ता बेचारा करे भी तो क्या करे।

2.
सन 1960 में : दूल्हा सोचता था ‘
दहेज़ में रेडियो मिल जाए’..!

सन 1970-80 में : दहेज़ में सायकल मिल जाये !

सन 1990 में : दहेज़ में बाईक मिल जाए !
सन 2000 में : दहेज़ में कार मिल जाए !

सन 2015 में : बस बिना बॉय फ्रेंड वाली दुल्हन
मिल जाए और कुछ भी नहीं चाहिए मुझे।

3.
नेता की बीवी (नेताजी से) : मेरी चप्पल बिलकुल खराब हो गई है। आज शाम को मेरे लिए एक जोड़ी चप्पल जरुर लेते आना।

नेताजी बोले : “आज शाम मुझे एक जगह भाषण देने जाना है”। तुम भी साथ चलना, एक जोड़ी क्या, भिन्न भिन्न डिजाईन के जूते और चप्पलें मिल जाएंगे।

4.
मास्टर जी (छात्रों से) : अगर न्यूटन पेड़ के नीचे नहीं बैठते और उनके सिर के ऊपर सेब नहीं गिरता तो गुरुत्वाकर्षण का सिद्धांत हमें कैसे पता चलता ?
चिंटू : सर ! बिलकुल सही कहा आपने, अगर न्यूटन हमारी तरह क्लास में बैठकर इसी तरह किताब पढ़ रहे होते तो वो भी कोई आविष्कार नहीं कर पाते।

5.
मास्टर जी (क्लास में लडके की कॉपी जांचते हुए) : मुझे आश्चर्य होता है कि तुम इतनी सारी गल्तियां करते हों ?

लड़का : यह सब गल्तियां मैंने अकेले नहीं की हैं, मेरे पिता जी और मम्मी ने भी इसमें मुझे मदद दी है।