भारतीय नौसेना को मिली दुनिया की सबसे घातक सबमरीन, नाम है कलवारी

ये तो सभी जानते हैं किसी भी सेना को हमला करना हो या दुश्मन की ताकत पता करनी हो। जमीनी हमला करना हो, या समुद्र में दुश्मन के जहाज को नष्ट करना हो, सेना को एक कोने से दूसरे कोने पहुंचाना हो, या जमीनी युद्ध के दौरान हवाई हमले कर थलसेना की मुश्किल आसान करनी हो। दुश्मन के ठिकाने को तहस-नहस करना हो, या छोटे से ऑपरेशन में ही दुश्मन का सफाया करना हो। इसके लिए किसी भी चीज की सबसे ज्यादा जरूरत होती है तो वो है हमारे देश की ताक़त की और अब हमारे देश के सेना के साथ एक और बहुत बरी ताक़त जुड़ गयी हैं।

जी हाँ आपको बता दे की भारतीय नौसेना को हाल ही में स्कॉर्पीन क्लास की सबमरीन ‘कलवारी’ मिली है। एमडीएसएल ने ये सबमरीन नौसेना को सौपी है। बता दे कि इस सबमरीन को दुनिया की सबसे घातक सबमरीन के श्रेणी में रखा किया गया है। आपको बता दे की इतना ही नही बल्कि बहुत जल्द ही इसी रेंज की नौसेना को अभी 5 और सबमरीन मिलेगी। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक इस सबमरीन को बनाने में भारतीय उपकरणों का इस्तेमाल किया गया है और इस सबमरिन कि टेक्नोलॉजी फ़्रांस से मिल है।

क्या हैं इस सबमरीन की खासियत:-

बता दे की कलवारी सबमरीन बिजली और डीजल दोनों से चलती है। इस पर लगे गाइडेड वेपन्स खुद ही दुश्मन पर सटीक निशान लगा सकता है इसका डिजाइन कुछ इस तरह का है कि इसे किसी भी प्रकार के युद्ध मे इस्तेमाल किया जा सकता है। इस सबमरीन को वेपन लॉन्चिंग ट्यूब्स से लैस किया गया है जिसकी वजह से बीच समंदर में इसमे हथियार लोड किये जा सकते है।