मास्टर जी : आपस में एकता से तथा मिलकर रहा करो, हर काम मिल -जुलकर करने से बडा लाभ होता है !

1.
सर : एक दिन ऐसा आयेगा जब पृथ्वी पर पानी नही रहेगा, जीव-जंतु नष्ट हो जायेंगे पृथ्वी तबाह हो जायेगी।
रोहित : सर तो क्या उस भी दिन ट्यूशन आना है ?

2.
अध्यापक : कुतुबमीनार कहां है ?

कमल : जी , नहीं मालूम।

अध्यापक : बेंच पर खडे हो जाओ !

कमल (खडे होकर) : सर , कुतुबमीनार अभी नहीं दिखाई दे रही।

3.
गुरु (चेला से) : बताओ हाथी और घोड़े में क्या फर्क होता है ?
चेला : घोड़े की एक तरफ दुम होती है और हाथी की दोनों तरफ।

4.
मास्टर जी : आपस में एकता से तथा मिलकर रहा करो, हर काम मिल -जुलकर करने से बडा लाभ होता है !

नटखट राजू : मगर सर, जब हम परिक्षा के परचे आपस में मिलकर करते है तो आप नाराज क्यों होते हैं ?

5.
रामू : बताओ ,दुनिया गोल है या चपटी ?

श्यामू : दुनिया न गोल है, न चपटी। मेरे दादा जी झूठ नहीं बोलते है, वे कहते हैं कि दुनिया 420 है।