मास्टर जी : तुम बडे मुर्ख हो चिंटू, मै तुम्हारी उम्र मे अच्छी तरह किताब पढ लेता था।

1.
टीचर (स्टूडेंट से) :
जो दुसरे को अपनी बात न समझा सके वो गधा होता है !

चिंटू :
सर, क्या मतलब मैं समझा नहीं ?

2.
अध्यापक : तुम कैसे सिद्ध करोगे कि साग-पात खाने वाले की निगाहें तेज होती है।

छात्र : सर, आज तक किसी ने बकरे या घोडे को चश्मा लगा कर घास चरते देखा है क्या ?

3.
अध्यापक : शाबाश जीतू, मुझे खुशी है कि तुमने इतने अच्छे अंक लाये। आगे भी ऐसे ही अच्छे अंक लाना।

जीतू : अच्छा सर, पर आप भी परचे मेरे भाई के प्रेस में ही छपवाते रहिएगा।

4.
मास्टर जी : तुम बडे मुर्ख हो चिंटू, मै तुम्हारी उम्र मे अच्छी तरह किताब पढ लेता था।

चिंटू : श्रीमान आपको अच्छा मास्टर मिल गया होगा ?

5.
अध्यापक (रोहित से) : जो काम तुमने नहीं किया, उसके लिए तुम्हें सजा नहीं दी मिलेगी।

रोहित : धन्यवाद सर ! आज में होमवर्क करना भूल गया हूं।