सिटी एस.पी : मोहतरमा, आप बहुत बहादुर और निडर हैं, आप ने डाकू को बहुत मारा।

1.
फिजिशियन : आपकी बीमारी की असल कारण मेरे समझ में नहीं आ रहा ! हो सकता है, शराब पीने की वजह से ऐसा हो रहा हो !

सराबी कल्लन : “कोई बात नहीं डॉक्टर साहब, जब आपकी उतर जाए तब मैं चेक-अप के लिए दोबारा आ जाऊंगा”।

2.
सिटी एस.पी : मोहतरमा, आप बहुत बहादुर और निडर
हैं, आप ने डाकू को बहुत मारा।
महिला : “मुझे
क्या पता था कि वो बेचारा डाकू है,
मै तो समझी कि मेरा शौहर है देर से
घर आया है” !

3.
लाइन मारने के 3 सबसे बेस्ट तरीके हैं..!

पहला : पेंसिल से लाइन मारना।
दूशरा : पेन से लाइन मारना।
तिशरा : मार्कर से लाइन मारना

सोच अच्छी रखो, कुछ लोग शरीफ भी होते हैं
मेरी तरह।

4.
अप्पू अपने कुत्ते से तंग आकर उसे दूर छोड़ आया।

घर आया, तो कुत्ता वापस आ चुका था।

वह दूसरी बार फिर कुत्ता को छोड़ आया, और कुत्ता फिर वापस आ गया।

तीसरी बार अप्पू उसे बहुत दूर जंगल में छोड़कर, वापसी में अम्मा को फोन करके पूछा : “क्या कुत्ता घर आ गया” ?

अम्मा : हां।

अप्पू : उस कमीने को भेज यहां, मैं रास्ता भूल गया हूं।

5.
रामदेव बाबा कहते है “सुबह जल्दी उठो उम्र बढती है”।

लेकिन आपने कभी ये सोचा की मुर्गा सुबह जल्दी उठता है
और शाम तक दुनिया से उठ जाता है।

वहम से बचों,
आराम से उठो।

आरामदायक विभाग द्वारा जनहित में जारी।