भारत का अद्भुत महल, जहाँ है सोने की छत और चांदी की टेबल

भारत का 140 साल पुराना पैलेस, जहाँ है सोने की छत और चांदी की टेबल:

हमारे भारत में यु तो बहुत सारे मशहूर पैलेस  हैं जिसे देखने के लिए लोग बहुत दूर-दूर से आते हैं। ये महल हमारे भारत की शान है और हमारे पुरूखोंं का दिया हुआ एक बहुत ही खूबसूरत तोहफा भी है। इसी खूबसूरती को बढ़ाता है ग्वालियर के महाराजा श्रीमंत माधवराव सिंधिया का महल। ये महल का नाम जय विलास महल है जिसे देखकर आप भी इसके दीवाने हो जाएंगे।

क्या आपको पता है की इस महल को सजाने के लिए माधवराव सिंधिया ने विदेशी कारीगरों की मदद ली थी। फ्रांसीसी आर्किटेक्ट ने इस महल का निर्माण किया था। इस महल की यह खास बात है कि इस महल मेंं 3500 kg का झूमर लगा हुआ है जोकी इस महल की खूबसूरती को चार चाँद लगता हैं।

क्या आपको पता है की इस महल में झूमर को छत पर टांगने से पहले इंजीनियरों ने छत पर 10 हाथी को भेजकर देखे थे कि छत इस झूमर की वजन को सह पाती है कि नहीं। और इतना ही नहीं यह हाथी 7 दिनों तक छत की परख भी रहे थे, इसके बाद ही यहां झूमर लगाया गया था।

अगर आपको कभी इस जगह जाने का मौका मिले तो आप इस महल की छत पर जब आप नजर ड़ालेंगे तो आपको छत पर सोना और रत्न से की गई कारीगरी देखने को मिलेगी। इस महल में कुल 400 कमरे हैंं हालाकिं 40 कमरे म्यूजियम के तौर पर रखे गए हैं। इस महल की ट्रस्टी ज्योतिरादित्य की पत्नी प्रियदर्शनी राजे सिंधिया हैं।