Emotional Shayari

मोहब्बत का मेरे सफर आख़िरी है,
ये कागज, कलम ये गजल आख़िरी है
मैं फिर ना मिलूंगी कहीं ढूंढ लेना तेरे दर्द का ये असर आख़िरी है !!

नही ज़िंदगी मिली हमे ना वफ़ा मिली हमे,
हर खुशी हमसे खफा मिली.
झूठी मुस्कान लिए अपने दर्द छुपाए हे,
सच्चा इश्क़ करने की भी क्या खूब सज़ा मिली.

लोग मिला करते हे ज़िंदगी मे दिल को दर्द देने के लिए,
वो भी आए थे दिल की कहानी सुनने के लिए,
वो हवा ओ की तरह रुख़ बदलते रहे,
हम तक़दीर से लड़ते रहे जिनको पाने के लिए.

नाराज़ होने से पहेले खता बता देना,
आँसू निकालने से पहेले हसना सीखा देना,
अगर ज़िंदगी मे दूर जाना हे तो,
पहेले बिना साँस लिए जीना सीखा देना.

आपकी एक आवाज़ सुन ने को तरसता हे दिल,
हर पल जुदाई मे तड़प्ता हे दिल,
ना जाने कब नज़र के सामने आएगे वो,
इस उम्मीद पे हर पल धड़कता हे दिल.

समजते थे हम उनकी हर एक बात को,
वो हर बार हमसे धोका देते थे,
पर हम भी वक़्त के हातो मजबूर थे,
जो हर बार उनको मौका देते थे.

तूफान दर्द का चला तो सवार जाऊंगा ,
मे तेरी जुल्फ नही जो यू बिखर जाऊंगा ,
यहा से उड़ूँगा तो ये ना पूछो के कहा जाऊंगा ,
मे तो दरिया हू दोस्तो समुंदर मे समा जाऊंगा .

तुम्हारी यादो के टुकड़े चुनकर,
गुज़रे लम्हो की एक तस्वीर बना लू.
मेरी हर एक खुशी तुम्हारे नाम लिख कर,
तुम्हारे दर्द की अपनी तक़दीर बना लू.

जिनकी आँखे आँसू से कभी नम नही,
तुम्हे क्या लगता हे उनको कोई दर्द नही,
तुम तड़प के रो पड़े तो क्या हो गया,
दर्द छुपा के हसनेवाले भी कुछ कम नही.

वो बहोत रोई और कहती रही के नफ़रत हे तुमसे,
लकिन एक सवाल आभी भी दर्द बनकर बना हे,
के अगर मुजसे नफ़रत हे थी तो, वो इतना रोई क्यू?