भारत के सबसे खुबसूरत पर्यटक स्थल जहां आप एक बार ज़रूर जाना चाहेंगे

भारत के सबसे खुबसूरत पर्यटक स्थल जहां आप एक ज़रूर जाना चाहेंगे:

दुनिया का सबसे खूबसूरत देश भारत हैं। भारत में एक ओर हिमालय है तो तीन ओर समुद्र, एक ओर अथाह रेगिस्तान है तो दूसरी ओर भयानक जंगल। इस सबके अलावा हरे-भरे घास के मैदान और दूसरी ओर विशालकाय पथरीली जमीन भी है। कहना तो ये चाहिए कि भारत में सब कुछ है। तो चलिए हम आपको ऐसे स्थान के बारे में बताएँगे जहाँ आपको एक बार जाने का तो मन ज़रूर करेगा-

1. लद्दाख –

 

लद्दाख, उत्तर-पश्चिमी हिमालय के पर्वतीय क्रम में आता है, जहाँ का अधिकांश धरातल कृषि योग्य नहीं है। गॉडविन आस्टिन (K2, 8,611 मीटर) और गाशरब्रूम I (8,068 मीटर) सर्वाधिक ऊँची चोटियाँ हैं। यहाँ की जलवायु अत्यंत शुष्क एवं कठोर है। वार्षिक वृष्टि 3.2 इंच तथा वार्षिक औसत ताप 5 डिग्री सें. है। नदियाँ दिन में कुछ ही समय प्रवाहित हो पाती हैं, शेष समय में बर्फ जम जाती है। सिंधु मुख्य नदी है। जिले की राजधानी एवं प्रमुख नगर लेह है, जिसके उत्तर में कराकोरम पर्वत तथा दर्रा है।

2. पंचगनी 
पंचगनी का अर्थ है पांच पहाडियों से घिरा हुआ स्‍थान। यह महाबलेश्‍वर से केवल 38 मीटर नीचे 1334 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है। ये 38 मीटर के अंतराल एक ओर कृष्‍णा नदी के सुंदर दृश्‍य दिखाते हैं और दूसरी ओर तटीय मैदान फैले दिखाई देते हैं। पंचगनी पुराने युग की चीजों से सजा हुआ आवासीय पर्वतीय स्‍थल है। यहां ब्रिटिश कालीन भवनों की वास्‍तुकला, पारसी घर और बोर्डिग घर देखे जा सकते हैं जो यहां एक शताब्‍दी से अधिक समय से मौजूद हैं। वेनिश युग की झलक पाने के लिए कुछ पुराने ब्रिटिश और पारसी घरों में जाने की विशेष व्‍यवस्‍था की जाती है। पंचगनी एक ऐसे दुर्लभ स्‍थानों में से एक है जहां आकर किसी को पछतावा नहीं होता और वह अपने अवकाश का पूरा आनंद उठाता है।
3. धर्मशाला की हिम वर्षा –

धर्मशाला की ऊंचाई 1,250 मीटर है। यहां से बर्फ की पर्त आसानी से देखी जा सकती है। सूर्य की किरणें जब इस बर्फ पर पड़ती हैं तो उनकी चमक से घाटी में एक सुंदर इंद्रधनुष बनाता है और लोग इसे देखते रह जाते हैं। यह पर्वत 3 तरफ से कस्‍बे से घिरा हुआ है और यह घाटी दक्षिण की ओर जाती है। यह अपनी प्राकृतिक सुंदरता के लिए जाना जाता है, जहां पाइन के ऊंचे पेड़, चाय के बागान और इमारती लकड़ी पैदा करने वाले बड़े वृक्ष ऊंचाई, शांति तथा पवित्रता के साथ यहां खड़े दिखाई देते हैं। वर्ष 1960 से, जब से दलाई लामा ने अपना अस्‍थायी मुख्‍यालय यहां बनाया, धर्मशाला की अंतरराष्‍ट्रीय ख्‍याति भारत के छोटे ल्‍हासा के रूप में बढ़ गई है।

4. शिवपुरी के जंगल –
शिवपुरी मध्य प्रदेश प्रान्त का एक शहर है जो ग्वालियर से 113 कि॰मी॰ की दूरी पर है। यह एक पर्यटक नगरी है और यहाँ का सौंदर्य अनुपम हैँ। शिवपुरी की प्राकृतिक सुंदरता और सांस्कृतिक विरासत की झलक देखने के लिए यहाँ पर्यटक बड़ी संख्या में आते है।
5. वृन्दावन के मंदिर –
यदि कभी मौका मिले तो एक बार ब्रज में होली मनाकर देखिये , वृन्दावन में अनगिनत मन्दिर हैं और यदि कहा जाय कि वृन्दावन मन्दिरों का ही नगर है तो यह गलत नहीं होगा, तकरीबन पांच लाख से भी अधिक मंदिरों की गिनती वाले ब्रज का केंद्र वृन्दावन ही है |
Note: Images is not meant for copyright. It is just use for fair uses its all credit goes to its original owner.