Love Shayari

भूल कर सारी दुनिया को आज
हम इश्क का इजहार करते हैं,
लो पहले हम ही कह देते हैं,
हम आपसे बेहद प्यार करते हैं.

हम रूठे दिलों को मनाने में रह गए,
गैरों को अपना दर्द सुनाने में रह गए,
मंज़िल हमारी, हमारे करीब से गुज़र गयी,
हम दूसरों को रास्ता दिखाने में रह गए.

दीवानगी हमारी हर राज़ खोल देती है
खामोशी हमारी हर बात बोल देती है
लेकिन शिकायत है तो सिर्फ़ इस दुनिया से
जो दिल के जज़्बात भी पैसों से तोल देती है.

आज हम हैं, कल हमारी यादें होंगी.
जब हम ना होंगे, तब हमारी बातें होंगी.
कभी पलटो गे जिंदगी के ये पन्ने,
तो शायद आप की आँखों से भी बरसातें होंगी.

कभी ख़ुशी से ख़ुशी की तरफ़ नहीं देखा,
तुम्हारे बाद किसी की तरफ़ नहीं देखा,
ये सोच कर कि तेरा इंतज़ार लाजिम है,
तमाम उम्र घड़ी की तरफ़ नहीं देखा.

रब उसे ऐसी तन्हाई न दे,
हम जी लेंगे तन्हा पर उसे तन्हाई न दे,
इन निगाहों में बसी रहे उसकी सूरत,
भले मेरी सूरत उसे दिखाई न दे.

खुशबू ने फूल को एक अहसास बनाया;
फूल ने बाग को कुछ खास बनाया;
चाहत ने मोहब्बत को एक प्यास बनाया;
और इस मोहब्बत ने एक और देवदास बनाया

मोहब्बत का रुतबा
तुम क्या जानो हमदम..!!
अगर तुम्हारे आवाज़ में दर्द है,
तो मेरी आँखों में भी इश्क़ है.

ये प्यारी निगाहॆं याद रहॆंगी,
मिलकर ना मिलने की अदा याद रहॆंगी,
मुमकिन नहीं की मॆं तुम्हॆ भुला दुं,
और उमर भर तुम्हॆ भी मेरी याद रहॆगी.

कोई अच्छा लगे तो उनसे प्यार मत करना;
उनके लिए अपनी नींदे बेकार मत करना;
दो दिन तो आएँगे खुशी से मिलने;
तीसरे दिन कहेंगे इंतज़ार मत करना!