Romantic Shayari

दिल धड़कता है तुझे देखूं तो,
साँस भी मेरी रुकने लगती है
प्यार इतना है मेरे दिलमे सनम,
रूह भी मेरी खींच ने लगती है !
चैन मिलता है जब मे देखूं तुझे,
वरना या साँस रुकने लगती है !!!

आज कितने दीनो बाद हुई यह बरसात है
याद दिलाती यह आपकी हर बात है
मुझे मालूम है आपकी आँखों में है
नींद आप चैन से सो जाओ कितनी हसीन रात है

गुलाब की महक भी फीकी लगती है,
कौन सी खुश्बू मुज़मे बसा गयी हो तुम,
ज़िंदगी है क्या तेरी चहत के सिवा,
यह केसा ख्वाब आँखो को दिखा गयी हो तुम

आँखों में ना हुमको ढूँड़ो सनम दिल में हम बस जाएँगे!
तमन्ना है अगर मिलने की तो बंद आँखों में भी हम नज़र आएँगे!

काश आपकी सूरत इतनी प्यारी ना होती,
काश आपसे मुलाकात हमारी ना होती,
सपनो में ही देख लेते हम आपको,
तो आज मिलनी की इतनी बेकरारी ना होती

कोई नज़र भी उठाए तेरी तरफ तो दिल धड़क जाता है.
ना जाने क्यूँ ऐसा लगता है के कोई चीन कर ले जाएगा तुझे मुझ से..!!

अब छोटी छोटी बातों में, हम हस्ते थे , रोते थे ,
तब से तुमसे प्यार किया जब बिन मौसम बरसातो में,
हम झूम झूम के गाते थे ,
तब से तुमसे प्यार किया जब चुप चुप के आधी रातों में,
च्चत पे तारे गिनते थे , तब से तुमसे प्यार किया अब तो खुद भी भूल चुका हू,
की काब्से तुमसे प्यार किया, बस इतना हे कह सकता हू, की सिर्फ़ तुमसे, तुम्ही से प्यार किया ..

परवाह कर उसकी जो तेरी परवाह करे,
ज़िंदगी में जो कभी ना तन्हा करे,
जान बन के उतार जाएगा उसकी रूह में,
जो जान से भी ज़्यादा तुझसे वफ़ा करे.

चाँद को हर एक साक्ष् चाहता हे ये आम बात हे,
मगर चाँद किसको चाहता हे ये ख़ास बात हे,
ज़िंदगी मे जीने के लिए क्या ज़रूरी हे ये आम बात हे,
मगर जी रहे हो किसके लिए ये ख़ास बात हे.

माँगा था रब से तुज़े अब ज़िद भी करेंगे,
खुद से लड़ते हे अब तो रब से भी लड़ेंगे,
तुम्हारी कसम मेरे सनम अब हिम्मत नही हारेंगे,
मर जाएगे पर तेरे सिवा किसी को नही चाहेंगे.