ताज होटल से जुड़ी कुछ रोचक इतिहाश

आज हम बात कर रहे है मुंबई के ताज महल पैलेस होटल जो बहुत ही खुबसूरत होटल है ये एक फाइव स्टार होटल है जो मुंबई का सबसे बड़ी होटल है तो चलिए जानते है इसके बारे में जिसे जानकार आपको भी अच्छा लगेगा |मुंबई की कोलाबा नामक जगह पर स्थित ताज महल पैलेस होटल पांच सितारा होटल है जो कि गेटवे ऑफ़ इंडिया के पास है | ताज महल होटल 104 साल पुरानी इमारत है ताज होटल रिसॉर्ट्स एंड पैलेस का एक हिस्सा, है यह इमारत इस समूह की प्रमुख संपत्ति मानी जाती है, जिसमे 560 कमरे एवं 44 सुइट्स हैं | विदेश से आने वाले लोग भी गेटवे ऑफ़ इंडिया के पास स्थित ताज महल होटल को काफी पसंद करते है ये इमारत की खूबसूरती से लोगो को आकर्षित करती हैइस होटल में अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति जान  कैनेडी की पत्नी जक्लीन कैनेडी, अनेक राष्ट्राध्यक्ष,राजा, महाराजा,नामवर कंपनियों के सीईओ आदि ठहर चुके हैं | ताज होटल का निर्माण जमशेदजी टाटा ने 1903 में कराया था मुंबई में ताजमहल पैलेस को एशिया के सबसे प्रमुख होटल का दर्जा मिला है | ताज होटल में रेस्टोरेंट, बार, कॉफी की दुकान, नाइट कल्ब, पेस्टी की दुकान, किताब की दुकान, शॉपिंग सेंटर, पार्किंग, स्विमिंग पूल, हेल्थ क्‍लब, गोल्फ़, बेबी सिटिंग, ब्यूटी सैलून, लाउंडरी, डॉक्टर-आन-कॉल, अटेच्ड बाथ, गर्म पानी, टी.वी., आदि सुविधाएँ मिलती है |

इस होटल के बनने के बाद कुछ समय तक इस होटल के दरवाज़े पर एक तख्ती भी लटकती थी जिस पर लिखा होता था – ब्रिटिश और बिल्लियाँ अंदर नहीं आ सकती| ताज होटल का निर्माण दि टाइम्स ऑफ़ इंडिया के संपादक के कहने पर हुआ था जिन्होनें महसूस किया कि बाम्बे के अनुरूप एक होटल की आवश्यकता है|  ताजमहल होटल की मुख्य इमारत का निर्माण इंडो- सर्कैनिक शैली में टाटा द्वारा करवाया गया था| इस होटल के एक दिन के रहने का किराया 13000 से भी अधिक है|